Delhi-NCR में आज से मदर डेयरी का दूध हुआ और महंगा, साल में चौथी बार बढ़े दाम
Mother Dairy, Milk Price, Milk Price Hike, Mother Dairy Hike Milk Price, Mother Dairy Milk Price Hike from today, Mother Dairy Full Cream Milk Price Hike, Mother Dairy Milk Price, Milk Inflation, Inflation, Mother Token Milk Price Hike, Mother Dairy New Milk Price, fodder inflation, fodder inflation high, fodder rate increase, मदर डेयरी, मदर डेयरी का दूध महंगा,  आज से दूध महंगा, मदर डेयरी का दूध आज से महंगा, मदर डेयरी ने बढ़ाए दूध के दाम, दूध के रेट, दूध का भाव, अमूल दूध, मदर डेयरी

मदर डेयरी (Mother Dairy) का फुल-क्रीम दूध और टोकन वाला दूध दिल्ली-NCR में आज से महंगा हो गया है. जहां फुल क्रीम दूध की कीमत में 1 रुपये प्रति लीटर का इजाफा किया गया है, तो वहीं टोकन वाला दूध 2 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है. रविवार को कंपनी ने बढ़ती लागत का हवाला देते हुए दाम बढ़ाने का ऐलान किया था. 

नई कीमतों के अनुसार, सोमवार से फुल क्रीम दूध की कीमत 63 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 64 रुपये प्रति लीटर हो गई. हालांकि, कंपनी ने 500ML के पैक में बिकने वाले फुल क्रीम दूध की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है. इसके साथ ही टोकन मिल्क (बल्क वेंडेड मिल्क) 48 रुपये प्रति लीटर की जगह अब 50 रुपये प्रति लीटर में मिलेगा. 

Mother Dairy दिल्ली-एनसीआर में सबसे बड़ा मिल्क सप्लायर है. एक रिपोर्ट के अनुसार, ये हर रोज 30 लाख लीटर से अधिक दूध पैकेट और वेंडिंग मशीनों के माध्यम से बेचती है. मदर डेयरी के कंपनी के 9 प्रोसेसिंग प्लांट मौजूद हैं. बता दें कि भारत में दूध का उत्पादन वार्षिक आधार पर लगभग 210 मिलियन टन है. दिल्ली-एनसीआर में कंपनी के सैकड़ों मिल्क बूथ के साथ-साथ सफल रिटेल आउटलेट भी हैं.  
मदर डेयरी ने एक बार फिर से अपना दूध महंगा करने के बाद इस बात की संभावना भी बढ़ गई है कि दूसरी कंपनियों भी दूध के दाम में बढ़ोतरी कर सकती हैं. पिछले अक्टूबर महीने में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला था. जब अमूल दूध के दाम बढ़ने के बाद मदर डेयरी ने भी कीमतों में वृद्धि की थी. साल 2022 में अब तक ऐसा चौथी बार जबकि कंपनी ने दूध की कीमतें बढ़ाई हैं. इससे पहले पिछले महीने 16 अक्टूबर को भी मदर डेयरी ने फुल क्रीम और गाय के दूध के वैरिएंट्स की कीमतों में 2 रुपए प्रति लीटर का इजाफा किया था। 

मदर डेयरी की ओर से रविवार को कीमतें बढ़ाने की घोषणा की गई थी. कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा था कि डेयरी किसानों से कच्चे दूध की खरीद लागत में बढ़ोतरी के कारण यह निर्णय लिया गया है. उन्होंने कहा, 'इस साल पूरे डेयरी उद्योग में दूध की मांग और आपूर्ति में भारी अंतर देखा जा रहा है.' फीड और चारे की बढ़ती लागत और अनियमित मानसून के कारण कच्चे दूध की कीमतों पर दबाव पड़ने से उपलब्धता प्रभावित हुई है.

भले ही महंगाई दर (Inflation Rate) में बीते महीने गिरावट आई हो, लेकिन खाद्य पदार्थों पर महंगाई (Food Inflation) उच्च स्तर पर बनी हुई है. इसका उदाहरण है दूध के दाम में लगातार इजाफा होना. दूध के दाम (Milk Price) बढ़ने का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है. दूध के दाम बढ़ने का घर की रसोई के बजट पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है और ये गड़बड़ा जाता है. 

Share this story