सौ से ज्यादा लड़कियों और महिलाओं को अपनी हवस का शिकार करने वाले जलेबी बाबा की सीडी ने खोली ढोंगी बाबा की पोल पट्टी..

सौ से ज्यादा लड़कियों और महिलाओं को अपनी हवस का शिकार करने वाले जलेबी बाबा की सीडी ने खोली ढोंगी बाबा की पोल पट्टी..

वो रहस्यमयी सम्मोहन क्रिया में माहिर था. वो ख़ुद को तंत्र-मंत्र का उस्ताद बताता था. वो महिलाओं को फंसाने के लिए भूत-प्रेत का ड्रामा करता था. फिर उन्हें नशीली चीज़ पिलाकर या खिलाकर बेहोश करता था. उसके बाद नशे की हालत में ही उनके साथ रेप करता था. इस दौरान वो चुपके से लड़कियों का वीडियो बना लेता था. जो लड़की एक बार उसके चंगुल में फंसती थी फिर वो बार-बार रुसवा होती थी. हम बात कर रहे हैं शातिर बिल्लूराम, उर्फ बाबा अमरपुरी, उर्फ जलेबी बाबा की.

सौ से ज्यादा शिकार

जलेबी बाबा. जैसा नाम वैसा ही टेढ़ा काम. कहने को तो बाबा ने शहर में तंत्र-मंत्र और आध्यात्म की दुकान सजा रखी थी, लेकिन वो अपने नाम की तरह ही अंदर से कुछ इतना टेढा था कि उसने कब एक-एक कर सौ से ज्यादा लडकियों और महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बना डाला कि खुद बाबा का शिकार बननेवाली लड़कियों तक को इसका पता नहीं चला. 

14 साल के लिए जेल गया बाबा

हरियाणा के टोहाना के रहनेवाले इस ढोंगी बाबा को अदालत ने उसके किए की सजा सुना दी है. नाबालिग लड़कियों के साथ-साथ महिलाओं का यौन शोषण करने, उनकी अश्लील फिल्म बनाने और उन्हें ब्लैकमेल करने समेत और भी कई गुनाहों में अदालत ने जलेबी बाबा को 14 साल की कैद बामुशक्कत और 35 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है. 

रहम की भीख मांग रहा था फर्जी बाबा

फतेहाबाद के एडिशनल सेशल जज बलवंत सिंह की अदालत ने जब जलेबी को कुछ इन्हीं गुनाहों में दोषी पाया, तो बाबा की हालत देखनेवाली थी. कल तक जिसकी अकड़ और ठसक के आगे अच्छे-अच्छे पानी मांगते थे, वही बाबा अदालत में खड़ा-खड़ा रो रहा था, रहम की भीख मांग रहा था. लेकिन बाबा के गुनाह ही कुछ ऐसे हैं कि अदालत ने कोई रहम नहीं किया. बाबा को सीधे बड़े घर का रास्ता दिखा दिया गया. 

चलती-फिरती पोर्न फिल्म इंडस्ट्री है ये बाबा

जब बाबा आजाद था यानी जब वो छुट्टा घूमता था, तो टोहाना और फतेहाबाद के इलाके में उसकी अलग ही हनक होती थी. लेकिन जब वो बाबा पकड़ा गया, तब कैसे-कैसे खुलासे हुए. नब्बे से ज़्यादा लड़कियों से बलात्कार करने के साथ-साथ सौ से ज़्यादा अश्लील फ़िल्में बना डालना कोई मामूली जुर्म नहीं है. ये आंकड़ा कुछ इतना बड़ा है कि सुनकर यकीन करना भी मुश्किल होता है. बाबा क्या है, सुन कर लगता है मानों अपने-आप में चलती-फिरती पोर्न फिल्मों की इंडस्ट्री है.

100 से ज्यादा लड़कियों को बनाया शिकार

इतने गुनाहों को सालों-साल छिपाए रखने के लिए किसी इंसान को जितना शातिर दिमाग होना चाहिए, बाबा कहीं उससे भी दो क़दम आगे था. तभी तो वो ना सिर्फ हरियाणा के टोहाना में बाबा बालकनाथ के आश्रम की आड़ में अपनी काली करतूतों पर सालों-साल पर्दा डाले रहने में कामयाब रहा, बल्कि नई-नई लड़कियों को भी अपना शिकार बनाता रहा. अब तक बेशक 90 लड़कियों की 120 से ज़्यादा अश्लील फिल्में पुलिस के हाथ लग चुकी हों, लेकिन खुद पुलिस को भी इस बात का अंदाज़ा नहीं है कि बाबा की ज़्यादती और अश्लील फिल्मों की सही-सही गिनती आख़िर क्या है और कहां जाकर ख़त्म होती है.

सबसे बड़ा अय्याश और बदनाम बाबा

इन करतूतों का खुलासा होने के बाद बेशक अब तक का ये सबसे अय्याश और बदनाम बाबा अमरपुरी उर्फ जलेबी बाबा पुलिस के शिकंजे में आ चुका हो. लेकिन बाबा की करतूतें सुन-सुन कर अब खुद हरियाणा पुलिस भी हैरान है. बाबा के आश्रम से ऐसी-ऐसी चीजें बरामद हो रही हैं कि देख कर लगता है मानों बाबा ने भोली-भाली और मासूम लड़कियों को रुसवा करने को ही अपनी ज़िंदगी का मकसद बना रखा था. 

हर फिल्म में बाबा वही, लड़की नई

पुलिस को जब एक मुखबिर ने बाबा की अश्लील फिल्मों से भरी एक सीडी सौंपी, तो उसकी जांच करते ही वर्दीवाले भी सिहर गए. हर फिल्म में बाबा के आश्रम में बना तहखाना, तहखाने में रखी चीजें, आस-पास का माहौल, बाबा की करतूतें सबकुछ एक जैसा था, बस हर बार बाबा के साथ फिल्म में एक नई लड़की होती. जिसे बाबा ना सिर्फ सम्मोहन और नशे के जाल में फांस कर क़ाबू कर रखा होता, बल्कि ज़्यादती के दौरान उससे लगातार शपथ दिलाने के तर्ज़ में ये बुलवाता रहता कि वो ये सबकुछ अपनी मर्ज़ी से और खुशी-खुशी कर रही है. 

ऐसे में जाल में फंस जाती थी लड़कियां

असल में ये एक ऐसा मानसिक हथकंडा था, जिसके बाद बाहर जाकर कुछ देर के लिए खुद लड़की के लिए ये तय कर पाना मुश्किल हो जाता कि ये सबकुछ असल में उसकी मर्ज़ी से हुई या मर्ज़ी के खिलाफ. 

पुलिस को गवाहों की दरकार

फिलहाल, बाबा पांच दिनों की पुलिस रिमांड पर है. पुलिस उससे पूछताछ शुरू कर रही है. बाबा के खिलाफ नौ महीने पहले रिपोर्ट लिखवाने वाली लड़की एक बार फिर सामने आकर बाबा के खिलाफ तहरीर दे चुकी है. लेकिन अभी पुलिस को बाबा का शिकार बननेवाली उन अनगिनत लड़कियों के सामने आकर बाबा के खिलाफ़ गवाही की दरकार है, जिनके साथ बाबा ने ज़्यादती की और जिनकी अश्लील फिल्में बना कर उन्हें सर्कुलेट कर दिया. ताकि बाबा की बाकी की ज़िंदगी सलाखों के पीछे ही निकल जाए.

जलेबी बनाने का काम छोड़ा और शुरू किया 'गेम'

बाबा अमरपुरी नागा को बहुत जल्द समझ आ गया था कि शीरा तैयार कर के अगर वो जलेबी ही छानता रहा तो उसकी जिंदगी यूं ही गुज़र जाएगी. लिहाज़ा उसने जलेबी की दुकान बढ़ाकर आस्था की चाश्नी तैयार की और उसने मासूम भक्तों को छानना शुरू कर दिया. शीरे की इस चिपचिपाहट में भक्त चिपकते गए और वो उन्हें मक्खी की तरह चूसकर बर्बाद करता गया. 

शातिर बाबा की साजिश में फंसी शिकायतकर्ता

पिछले करीब 20 सालों से बाबा आस्था की चाश्नी में रेप और ब्लैकमेलिंग की जलेबी बना रहा था. और कोई उसके मकड़जाल से निकलने की जुर्रत भी नहीं कर पाया. 13 अक्टूबर 2017 को इस महिला ने जलेबी बाबा के खिलाफ़ टोहाना थाने में बलात्कार की रिपोर्ट लिखवाई. और बाबा को गिरफ्तार कर लिया गया था. लेकिन अश्लील वीडियो बनाने के उस्ताद इस बाबा ने तब ऐसा जाल बिछाया कि कुछ ही दिनों में खुद वो महिला ही शक के दायरे में आ गई. और उधर, जेल से निकलकर बाबा ने पीड़िता महिला को धमकाना शुरू कर दिया.

सीडी ने खोली ढोंगी बाबा की पोल पट्टी 

असल में बाबा ने उल्टे इस महिला के ही खिलाफ ही गलत मामला दर्ज कराकर पैसे वसूलने का केस दर्ज करा दिया. जिसकी वजह से उसे ज़मानत मिल गई. और वो खुद को पाक-साफ बताकर फिर से अपने शिकारों को फंसाने लगा. फिर कोई महिला हिम्मत नहीं कर पाई इस बलात्कारी बाबा के खिलाफ मामला दर्ज करवाने की और सिलसिला फिर चल निकला. मगर एक सीडी ने बाबा की पूरी पोल पट्टी खोल दी. 

ऐसे कानून के फंदे में फंसा जलेबी बाबा

बाबा के खिलाफ पुलिस को इतने पुख्ता सुबूत मिले हैं कि खुद पुलिस के लिए उन सबूतों की अनदेखी करना मुमकिन नहीं हुआ और पुलिस ने ना सिर्फ इस सिलसिले में नए सिरे से रिपोर्ट लिखी, बल्कि उस पीड़ित महिला को बाबा के खिलाफ लिखे गए इस रिपोर्ट में शिकायतकर्ता भी बनाया. पुलिस की अब तक की छानबीन पर ग़ौर करें तो लड़कियों को फंसाने और उन्हें ब्लैकमेल करने की बाबा की साज़िश बेहद शातिराना थी.

गरीब और बेबस लड़कियां बनती थीं बाबा का शिकार

बाबा का शिकार बननेवाली लड़कियों और महिलाओं में ज़्यादातर पिछडे और गरीब घरों की लड़कियां थीं. जो मदद के धोखे से बाबा के पास पहुंचती थी. और बाबा इन्हें आपत्तिनजक हालत में शूट करने के बाद उनसे रुपये-पैसों की मांग कम करता था, बल्कि बार-बार उसका यौन शोषण करता रहता था.

पुलिस का मानना है कि शायद यही वजह रही कि इतने दिनों तक बाबा का राज़ सामने नहीं आया. चूंकि बात रुपये-पैसे की नहीं थी, एक बार लड़कियां अपने स्तर पर बाबा की मांग पूरी करती रहती थी. वैसे अब पुलिस ये भी जानने-समझने की कोशिश कर रही है कि कहीं बाबा ये अश्लील वीडियोज़ आगे किसी पोर्न साइट को बेचता तो नहीं था? ज़ाहिर है, अभी तफ्तीश शुरू ही हुई है और बाबा के कई राज़ खुलने बाकी हैं.

रईसों वाले थे शौक

हरियाणा के फतेहाबाद में अपने आश्रम में 'पोर्न इंडस्ट्री' चलाने वाला ये बाबा सिर्फ नाम का बाबा था. वरना इसके शौक रईसों वाले थे. कान में ब्लूटूथ. गले में महंगी महंगी सोने की कई मोटी चेन और उनमें एक चेन में लिखा हुआ. ए.. यानी अमरपुरी. इतना ही नहीं टोहाना का ये जलेबी बाबा सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव था. उसने फेसबुक पर बाकायदा अपना प्रोफाइल बना रखा था. जिसके जरिए वह तंत्र-मंत्र के नाम पर महिलाओं को अपने झांसे में लेकर फंसाया करता था.

हाईप्रोफाइल और रिहाइशी इलाकों में खोले आश्रम

जानकारी के मुताबिक, महंत अमरपुरी ने हाईप्रोफाइल और रिहाइशी इलाकों में अपने आश्रम खोले, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को टारगेट कर सके. आरोपी बाबा महंगी और लग्जरी चीजों का शौकीन था. हाथों में महंगी अंगूठी, आंखों पर काला चश्मा, ढ़ोंगी बाबा का अंदाज कुछ ऐसा रहता था कि अच्छे और सम्मानित लोग भी उसके फॉलोअर बन गए थे.

सोशल मीडिया अकाउंट पर भी अश्लीलता

बाबा सोशल मीडिया पर अपना आभामंडल बनाने के लिए तरह-तरह की तस्वीरें भी शेयर किया करता था. हवनकुंड में तांत्रिक साधना करते हुए अपनी तस्वीरें वायरल करता था. महंगी सिगरेट पीता हुआ नजर आता था. कई सेलिब्रिटीज के साथ अपनी तस्वीरें शेयर करता था और तो और उसके फेसबुक पर उसके कुल 461 फ्रेंड हैं. जिनमें ज़्यादातर लड़कियां हैं. बाबा की फ्रेंड लिस्ट चेक करने पर पता चला कि बाबा की दोस्तों में यूरोपियन, अमेरिकन और ब्रिटिश लड़कियों के अलावा अरब मुल्कों की लड़कियां भी थीं. कुल मिलाकर बाबा के आश्रम से लीक हुई सीडी के अलावा उसका फेसबुक प्रोफाइल भी इस बात की तस्दीक कर रहा है कि बाबा अश्लीलता से भरा है. 

ऐसे पड़ा 'जलेबी बाबा' नाम

बाबा अमरपुरी नागा साधू उर्फ जलेबी बाबा. ये नाम जितना अजीब है, करतूतें उतनी ही घिनौनी. बाबा की करतूतों की कहानी तो आपने सुन ली, लेकिन इस बाबा का नाम आखिर जलेबी बाबा कैसे पड़ा. ये जानना भी अहम है. क्या आप यकीन करेंगे कि सालों-साल तंत्र-मंत्र के नाम पर अनगिनत लड़कियों की आबरू से खेलनेवाला ये बाबा असल में एक हलवाई हुआ करता था. जी हां, और इसी वजह से इसका नाम जलेबी बाबा पड़ गया. खुद को बाबा बालक नाथ का अनन्य भक्त बता कर टोहाना में अपना आश्रम खोलनेवाला अमरपुरी पहले टोहना में जलेबी की दुकान चलाता था. 

ठेला लगाकर जलेबी बेचता था अमरपुरी

अमरपुरी के अतीत से वाकिफ लोगों की मानें तो ये ढोंगी मूल रूप से पंजाब के मानसा ज़िले का रहनेवाला है. आज से कोई बीस साल पहले वो मानसा से रोज़ी-रोटी की तलाश में फतेहाबाद के टोहाना कस्बे में आ गया था और कोई काम नहीं मिलने पर उसने ठेला लगा कर जलेबी छानना शुरू कर दिया था. लोग बताते हैं कि उन दिनों अमरपुरी की ये जलेबियां काफ़ी मशहूर हुआ करती थीं और धीरे-धीरे उसकी दुकान भी चल निकली. और तो और पर्व त्यौहार के मौके पर वो दूसरी मिठाइयों के साथ भी अपना काम बढ़ा लिया करता था. 

पत्नी की मौत के बाद बन गया था तांत्रिक

कुछ साल पहले अचानक उसकी बीवी की मौत हो गई थी. इसके बाद अमरपुरी ने अपनी जलेबी की दुकान बंद कर ली और तंत्र-मंत्र करने लगा. तंत्र-मंत्र सीखने के लिए वो टोहाना से एक बार फिर पंजाब चला गया. और कुछ सालों बाद खुद को भक्त और तांत्रिक बता कर एक बार फिर टोहाना में प्रकट हुआ और एक छोटा सा आश्रम खोल कर अंधविश्वास की दुकान चलाने लगा.

तंत्र-मंत्र की आड़ में अश्लीलता का खेल

अमरपुरी नागा साधू उर्फ जलेबी बाबा की ये दूसरी दुकान कुछ ऐसी चली कि देखते ही देखते उसने एक अच्छा खासा मंदिर और आश्रम खड़ा कर लिया और यहीं पूजा-पाठ, हवन और तंत्र-मंत्र करने लगा. अब शहर के परेशानहाल लोग करिश्मे की उम्मीद लिए अमरपुरी के पास आने लगे. अमरपुरी कब अमरपुरी से जलेबी बाबा बन गया, खुद उसे भी पता नहीं चला. इतेफ़ाक से कुछ लोगों की परेशानियां दूर हुई और जलेबी बाबा के चर्चे शुरू हो गए. लेकिन जलेबी बाबा तंत्र-मंत्र की आड़ में जो अश्लीलता का खेल, खेल रहा था. उसकी खबर सिर्फ उसका शिकार बननेवाली महिलाओं को ही थी. यही वजह रही कि अब तक जलेबी बाबा की करतूतें ना सिर्फ ढंकी-छुपी रही, बल्कि बाबा के खिलाफ सिवाय एक शिकायत के किसी और महिला ने पुलिस से कोई कंप्लेन नहीं की. लेकिन अब बाबा के चेहरे से नक़ाब उतर चुका है.

Share this story