सर्दी-जुकाम में दूध से रखें परहेज ? जानिए इसके पीछे की वजह

सर्दी-जुकाम में दूध से रखें परहेज ? जानिए इसके पीछे की वजह 

Milk in dry cough: सर्दी-खांसी होने पर ज्‍यादातर लोगों के मन में ये सवाल उठता है कि क्‍या ऐसे में दूध का सेवन करना चाहिए? दूध पीने से कफ की समस्‍या बढ़ जाती है या कम हो जाती है. दूध एक ऐसी चीज है, जिससे सभी जरूरी पोषक तत्‍व मिल जाते हैं, लेकिन क्‍या काली खांसी में दूध पीने से बलगम की समस्‍या ठीक होती है. कई लोग इस मामले में कंफ्यूज रहते हैं, तो चलिए आज इस कंफ्यूजन को खत्‍म करते हैं. जानते हैं सर्दी-जुकाम और खांसी में दूध पीने से क्‍या हो सकता है?      

दूध पीने से कफ होता है खत्‍म! 

कई लोग कहते हैं कि दूध पीने से कफ की समस्या में राहत मिलती है, लेकिन आपको बता दें दूध से कफ की समस्‍या कोई खास बदलाव देखने को नहीं मिलता है. इस पर कई अध्‍ययन भी हुए हैं जिसमें दूध और सोया मिल्‍क बच्‍चों को पिलाया गया. उसके बावजूद भी जुकाम और अस्‍थमा वाले बच्चों में बलगम की की वृद्धि नहीं हुई. हां लेकिन कुछ अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि ठंडा दूध गले की खराश को शांत कर सकता है. 

दूध पीने पर गले में भारी या कफ जैसा क्यों लगता है?

खांसी या जुकाम के दौरान दूध पीते हैं तो, ये यह हमारी लार के साथ मिल जाता है और एक तरल गाढ़ा पदार्थ बना देता है. ये कुछ समय तक हमारे मुंह और गले में रहता है, लेकिन कई लोग इसे बलगम समझ बैठते हैं. आपको बता दें कि ये कफ नहीं होता है. हालांकि A1 टाइप दूध सूजन को ट्रिगर कर सकता है और बलगम को उत्पादित कर सकता है.  

खांसी में दूध पीना चाहिए या नहीं  

अगर आपको सर्दी में खांसी हो रही है या काली खांसी, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है. आप आराम से दूध पी सकते हैं. सर्दी-खांसी के समय दूध पीने से बलगम नहीं बनता है, लेकिन कुछ ऐसी वजह ह सकती है जिससे आपको दिक्‍कत आ सकती है. इसके लिए डॉक्टर ही बेहतर तरीके बता सकते हैं. वे कह सकते हैं कि आप दूध में हल्दी मिला कर पीएं या मिला लें.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें. DHN PRESS इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Share this story