हिसार जिला के उगालन गांव का सरपंच पद के लिए चुनाव पर लगी रोक, जानिए क्या है कारण..
हिसार जिला के उगालन गांव का सरपंच पद के लिए चुनाव पर लगी रोक, जानिए क्या है कारण..

बास (हिसार)। क्षेत्र के गांव उगालन में सरपंच पद के चुनाव पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। इस आदेश से प्रत्याशियों की चिंता बढ़ गई है। नामांकन पत्र की जांच के दौरान प्रत्याशी सरोज का नामांकन रद्द कर दिया गया था। इसके बाद उसने हाईकोर्ट में अर्जी दायर की थी। उधर, हांसी द्वितीय खंड के बीडीपीओ धर्मपाल ने बताया कि सभी प्रत्याशियों के पास आदेशों की प्रति भेजकर सूचना दे दी गई है कि 25 नवंबर को होने वाला सरपंच पद का चुनाव स्थगित हो गया है।

गांव उगालन में पिछली बार सरपंच सामान्य वर्ग की महिला थी। इस बार पद एससी महिला के लिए आरक्षित था। गांव से सरपंच पद चुनाव लड़ने के लिए 12 प्रत्याशियों ने अपने नामांकन पत्र जमा करवाए थे। छंटनी के दौरान प्रत्याशी सरोज का नामांकन जांच के बाद रद्द कर दिया था। सरोज का कहना है कि उसका फार्म सही था, जानबूझकर नामांकन रद्द किया गया है। नामांकन को रद्द करने में चूल्हा टैक्स की पर्ची और बिजली बिल का नो-ड्यूज नहीं देने का कारण बताया गया है। उसने दोनों डॉक्यूमेंट अपनी फाइल में लगाए थे। नामांकन पत्र रद्द करने की सूचना किसी अधिकारी ने नहीं दी। इसके बाद सरोज की याचिका पर हाईकोर्ट ने यह आदेश पारित किया है।

सिर्फ तीन वार्डों में पंचों के लिए होगा मतदान
ग्राम सचिव मनोज कुमार ने बताया कि सरपंच पद के चुनाव पर रोक लगने के बाद अब 25 नवंबर को वार्ड -1, 12 व 15 के लिए चुनाव करवाया जाएगा। ग्राम पंचायत उगालन में कुल 19 वार्ड हैं। इनमें से 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 13, 14, 17, 18 व 19 वार्ड के पंचों को सर्वसहमति से चुन लिया गया। वार्ड नंबर 16 में किसी भी पंच प्रत्याशी द्वारा नामांकन पत्र जमा नहीं होने के कारण वह खाली रह गया है।
प्रत्याशियों को चुनाव स्थगित की दी जा चुकी सूचना
हांसी द्वितीय खंड के बीडीपीओ धर्मपाल ने बताया कि गांव में सरपंच पद के लिए चुनाव लड़ रहे सभी प्रत्याशियों के पास आदेशों की प्रति भेजकर उनको सूचना दे दी गई है कि 25 नवंबर को होने वाला चुनाव स्थगित हो गया है। इसके बाद जो भी आदेश चुनाव आयोग या हाईकोर्ट की तरफ से आएंगे उनका पालन कराएंगे। फिलहाल पंच पद के लिए चुनाव 25 नवंबर को करवाया जाएगा।
 

Share this story