सिद्धू मूसेवाला कांड से जुड़े गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्‍नोई पर UAPA के तहत केस दर्ज, NIA टीम ने बठिंडा जेल से किया अरेस्‍ट
सिद्धू मूसेवाला कांड से जुड़े गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्‍नोई पर UAPA के तहत केस दर्ज, NIA टीम ने बठिंडा जेल से किया अरेस्‍ट

गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के खिलाफ NIA ने बड़ी कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है. उस पर UAPA के तहत केस दर्ज किया गया है. असल में बिश्नोई के आतंकवाद से भी कनेक्शन जुड़ रहे थे, कई तरह के इनपुट सामने आ रहे थे. उसी मामले में NIA ने उसके खिलाफ ये एक्शन लिया है.

गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई पर UAPA के तहत केसगैंगस्टर लॉरेंस 

गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के खिलाफ NIA ने बड़ी कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है. उस पर UAPA के तहत केस दर्ज किया गया है. असल में बिश्नोई के आतंकवाद से भी कनेक्शन जुड़ रहे थे, कई तरह के इनपुट सामने आ रहे थे. उसी मामले में NIA ने उसके खिलाफ ये एक्शन लिया है. उसे बठिंडा जेल से गिरफ्तार किया गया है. 


किस मामले में हुई गिरफ्तारी?

बड़ी बात ये है कि लॉरेंस बिश्नोई पहले से ही गिरफ्तार था. लेकिन अब NIA ने उसे अपनी हिरासत में ले लिया है. बताया जा रहा है कि बठिंडा जेल जाकर ही जांच एजेंसी बिश्नोई से पूछताछ करने वाली है. उससे सवाल-जवाब के बाद उसे दिल्ली लाया जा सकता है. कल उसे वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए पेश करने की भी तैयारी है. इस केस में 6 गैंगस्टर पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं और पंजाब के कई नामी सिंगर्स से NIA ने दिल्ली हेडक्वार्टर में पूछताछ भी की है.

वैसे कुछ दिन पहले दिल्ली पुलिस ने भी बड़ी कार्रवाई करते हुए लॉरेंस बिश्नोई गैंग के ही एक शॉर्प शूटर को गिरफ्तार किया था. उस पर 25 हजार का इनाम भी जारी था. बड़ी बात ये है कि उस शार्प शूटर का हाथ मुंडका डबल मर्डर में था और पुलिस लंबे समय से उसकी तलाश में थी. सोमवार को एक एनकाउंटर में उसकी गिरफ्तारी कर ली गई और उसके दो और साथियों को भी गिरफ्तार किया गया. मौके से पुलिस ने एक पिस्टल, चार जिंदा कारतूस भी बरामद किए हैं. ये शार्प शूटर लंबे समय से लॉरेंस बिश्नोई और जितेंद्र गोगी की गैंग के लिए काम कर रहा था. जुर्म की दुनिया का ये पुराना खिलाड़ी था जिस पर 9 हत्याएं. किडनैपिंग और चोरी-चकारी का आरोप था.


सिद्धू मूसेवाला कांड में भी नाम

लॉरेंस बिश्नोई की बात करें तो उस पर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का भी आरोप है. जानकारी के लिए बता दें कि 29 मई को सिद्धू मूसेवाला की हत्या कर दी गई थी. उन्हें सरेआम गोलियों से भूना गया था जिस वजह से उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया. उनकी हत्या का मास्टरमाइंड गोल्डी बराड़ को बताया गया, उसी ने लॉरेंस बिश्नोई के साथ मिलकर मूसेवाला की हत्या की पूरी प्लानिंग की और फिर अपने शूटरों के जरिए हत्या को अंजाम दिया. पुलिस अभी तक इस मामले में कई आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है.

Share this story